रविवार, 5 जनवरी 2020

897-मैं सूरज हूँ


रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’

मैं सूरज हूँ
अस्ताचल जाऊँगा
भोर होते  ही
फिर चला आऊँगा
द्वार तुम्हारे
किरनों का दोना ले
गीत अर्घ्य दे
मैं गुनगुनाऊँगा
रोकेंगे लोग,
न रुकूँगा  कभी मैं
मिटाना चाहें
कैसे मिटूँगा भला
खेत-क्यार में
अंकुर बनकर
उग जाऊँगा
शब्दों के सौरभ से
सींच-सींच मैं
फूल बन जाऊँगा
आँगन में आ
तुमको रिझाऊँगा
छूकर तुम्हें
गले लग जाऊँगा
दर्द भी पी जाऊँगा।
-0-


20 टिप्‍पणियां:

Manju Mishra ने कहा…

मैं सूरज हूँ ... बहुत ही सुन्दर, सूरज का तो काम ही है सृष्टि के साथ साथ चलते रहना

सविता अग्रवाल 'सवि' ने कहा…

सूरज की महत्ता दर्शाता सुन्दर सृजन है भाई काम्बोज जी | हार्दिक बधाई |

Sudershan Ratnakar ने कहा…

सूरज है तो सृष्टि है।बहुत सुंदर मनमोहक चोंका भैया।बधाई

Jyotsana pradeep ने कहा…

सूरज पर सूरज सा ही जगमगाता चोका,बहुत ही सुन्दर और प्रेरक भी.... हार्दिक बधाई भैया जी !

dr.surangma yadav ने कहा…

बहुत सुन्दर चोका।बधाई भैया जी ।

Meenu Khare ने कहा…

सुन्दर चोका! बधाई काम्बोज जी !

रश्मि शर्मा ने कहा…

बहुत सुंदर चोका। बधाई भैया

प्रीति अग्रवाल ने कहा…

बेहतरीन चौका आदरणीय भाई साहब, बधाई स्वीकारें! काश हम सब भी सूरज की तरह निःस्वार्थ बन पाते।

Dr. Purva Sharma ने कहा…

बहुत सुंदर चोका .... हार्दिक शुभकामनाएँ स्वीकार करें।

शिवजी श्रीवास्तव ने कहा…

वाह,बहुत सुंदर चोका, सूर्य की ऊर्जा जीवनदायिनी ह,उसी प्रकार प्रेम की ऊर्जा भी जीवनदायिनी है,व्यञ्जना का सुंदर प्रयोग है।नमन।

Dr. Shailesh Veer ने कहा…

आत्मविश्वास से भरपूर बहुत सुन्दर चोका। बधाई सर जी।

Vibha Rashmi ने कहा…

बेहतरीन चोका , ऊर्जा बिखेरता रहा । हार्दिक बधाई हिमांशु भाई ।

rameshwar kamboj ने कहा…

आप सबने मेरा चोका पसन्द किया, इस उदारता के लिए आप सबका कृतज्ञ हूँ

प्रियंका गुप्ता ने कहा…

सूरज से ही तो दुनिया है, ये समस्त सृष्टि है...| सूरज की ही जगमगाहट से भरा है ये चोका भी...| मेरी हार्दिक बधाई स्वीकारें...|

Krishna ने कहा…

बहुत ख़ूबसूरत चोका...हार्दिक बधाई भाईसाहब।

Shashi Padha ने कहा…

सृष्टि का यही क्रम है और सूरज इस जीवन यात्रा का सारथि भी है | कम शब्दों में बहुत गहन जीवन दर्शन है इस रचना में | बधाई स्वीकारें आदरणीय रामेश्वर काम्बोज जी |

शशि पाधा

rameshwar kamboj ने कहा…

आप सबका बहुत आभार

अनिता मंडा ने कहा…

गीत अर्घ्य
लाजवाब है, बधाई।

Satya sharma ने कहा…

बहुत ही बेहतरीन चोका ।
हार्दिक बधाई भैया जी

Anita Lalit (अनिता ललित ) ने कहा…

बहुत सुंदर चोका! सूरज की भाँति ही ओजपूर्ण!
हार्दिक बधाई आदरणीय भैया जी!

~सादर
अनिता ललित