शुक्रवार, 23 सितंबर 2011

डॉ. सुधा गुप्ता के हाइकुओं पर आधारित हाइगा



4 टिप्‍पणियां:

Dr.Bhawna ने कहा…

काम्बोज जी और हरदीप जी ये आपने नया ब्लॉग बनाया जिसमें हाइगा,ताँका और चोका को स्थान मिलेगा ये बहुत सराहनीय कार्य है आप दोनों को हार्दिक शुभकामनाएँ।
सुधा जी के हाइगा की तो बात ही क्या... आपने जो चित्र दिए हैं जान आ गई है उनमें बहुत-बहुत बधाई...

satishrajpushkarana ने कहा…

हरदीप जी और भाई काम्बोज जी , आप दोनों का यह काम सराहनीय ही नहीं, वरन् ऐतिहासिक है । हाइकु का चयन और उसी के अनुरूप चित्रों का चयन आसान काम नहीं है । खूबसूरती से पेश करना और भी कठिन है।मेरी बधाई स्वीकार कीजिएगा!

Rachana ने कहा…

bahut hi uttam kaam kiya hai aapdono ne aap dono ko bahut bahut badhai.
sudha ji to fir sudha ji hai unka ek ek shabd bahut satik aur gahra hota hai
rachana

प्रियंका गुप्ता ने कहा…

आदरणीय काम्बोज जी और हरदीप जी,
आप दोनो मिल कर ताँका, चोका और हाइगा को यह जो मंच दे रहे हैं, इस पर आप दोनो की मेहनत और इन विधाओं के लिए आप का समर्पण साफ़ दिखता है । हाइकु के लिए एक स्थापित मंच तो आपने दिया ही हुआ है...। मेरे जैसे न जाने कितने रचनाकारों को आपने इन विधाओं से जोड़ दिया है और जोड़ते जा रहे हैं...। यह निःसन्देह ही बहुत प्रशंसनीय और सराहनीय है । इसके लिए आप दोनो ही साधुवाद के पात्र हैं...।
मेरी शुभकामनाएँ और बधाई स्वीकारें...।

प्रियंका