बुधवार, 21 दिसंबर 2022

1092

 1-डॉoजेन्नी शबनम





















2-रश्मि विभा त्रिपाठी




























12 टिप्‍पणियां:

बेनामी ने कहा…

गागर में सागर, मधुरिम, मर्म स्पर्शी

Anima Das ने कहा…

वाहह...

आदरणीया शबनम जी 🙏बहुत ही सुन्दर मनोरम सृजन 🌹🌹🌹

आदरणीया रश्मि जी.. निःशब्द करती आपकी रचना... वाह्ह... 🌹🌹🌹🌹


आप दोनों को अनंत बधाई 🌹🙏🙏🌹🌹

dr.surangma yadav ने कहा…

शबनम जी,रश्मि जी बहुत सुंदर हाइगा आपके।हार्दिक बधाई।

Anita Manda ने कहा…

दोनों रचनाकारों के हाइगा सुंदर

Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…

आदरणीया जेन्नी शबनम जी के बहुत ही सुंदर हाइगा।
हार्दिक बधाई 🌷💐

सादर

Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…

मेरे हाइगा प्रकाशित करने के लिए आदरणीय सम्पादक द्वय का हार्दिक आभार।

आप सभी आत्मीय जन की टिप्पणी की आभारी हूँ।

सादर

बेनामी ने कहा…

दोनों रचनाकारों को बहुत सुंदर हाइगा सृजन के लिए हार्दिक बधाई। सुदर्शन रत्नाकर

बेनामी ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. हार्दिक बधाई 🌹🌹

प्रीति अग्रवाल ने कहा…

वाह! जेन्नी जी और रश्मि जीके मनोहर हाइगा!

Krishna ने कहा…

बहुत सुंदर हाइगा...जेन्नी जी और रश्मि जी को हार्दिक बधाई।

डॉ. जेन्नी शबनम ने कहा…

रश्मि जी के बहुत सुन्दर-सुन्दर हाइगा। बधाई रश्मि जी.
मेरे हाइगा को स्थान देने और आप सभी के द्वारा पसन्द करने के लिए हृदय से आभार।

प्रियंका गुप्ता ने कहा…

मनोरम हाइगा के लिए आप दोनों को बहुत बधाई