बुधवार, 29 दिसंबर 2021

1017-मन्दाकिनी- सा मन

 सेदोका-  रश्मि विभा त्रिपाठी 

1

पीयूषवर्णी 


देखूँ वे दो नयन

देते तृप्ति का धन 

प्राणप्रिया का

मन्दाकिनी- सा मन 

मुक्त अवगाहन।

2

मंत्रमुग्ध हो

मन रहा थिरक 

राग मनमोहक

प्राणप्रिया के

शब्द भरें अथक

शिराओं में खनक।

3

खिल उठे हैं 

सुन उनकी बात

श्वास-मानस-गात

प्राणप्रिया का 

स्वर ज्यों पारिजात

'सौरभ का प्रपात'

4

प्रिय ने धागा

न्यारा नेह का बाँधा

न दूरी बनी बाधा

एक ही मन 

बरतें आधा- आधा 

मानो श्री कृष्ण- राधा।

5

प्रिय रहते 

दूर होके भी साथ

सुनें मन की बात

प्रवहमान 

प्रणव का प्रपात

परे पीड़ा- उत्पात।

6

मेरी दशा का 

अलि वे अनायास

कर लेते आभास

आ हिमांशु- से

अंक भरें उजास

ओझल तम- त्रास।

7

अलि उनका 

प्रार्थना का प्रक्रम

अक्षुण्ण, नहीं कम

विधि- परीक्षा

मेरी श्रेणी- प्रथम

'प्रिय का परिश्रम'!

8

प्रिय आलम्ब

आशाएँ जीर्ण-शीर्ण

होने न दें विदीर्ण 

हारूँ तो करें

जय- सूत्र उत्कीर्ण 

रटूँ, होऊँ उत्तीर्ण।

9

प्रिय तुमसे

मुझे हुआ संप्राप्य

सर्वसुख- साम्राज्य

सगर्व झूमूँ 

मिटी पीड़ा असाध्य

सराहूँ निज भाग्य।

10

बैठी हुई थी 

मैं अवसाद लिये

पीर अगाध लिये 

प्रिय आ गए 

आस- प्रसाद लिये

औ प्राण साध लिये।

11

प्रिय की दुआ

दे ऋतु को बदल

दुख जाए पिघल

प्राण- पुष्कर 

साँसों में परिमल

सुख- नीलकमल।

-0-

11 टिप्‍पणियां:

दिनेश चंद्र पांडेय ने कहा…

अच्छी सेदोका रचनाएँ.

Anima Das ने कहा…

वाह्ह्ह...
हूँ निःशब्द मैं ...
करूँ पद वंदन...
तुम चंदन

रश्मि जी... आपको जब भी पढ़ती हूँ... एक अद्भुत स्तर पर चली जाती हूँ..... आपको सादर नमन...🙏🌹🌹अशेष शुभकामनाएँ 🌹💐🙏

Sudershan Ratnakar ने कहा…

बहुत सुंदर सेदोका। हार्दिक बधाई रश्मि जी।

Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…

हार्दिक आभार आदरणीय 🙏🏻

Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…

मुझे प्रोत्साहन देती आपकी सुन्दर टिप्पणी पढ़ कृतज्ञ हूँ आदरणीया।
सादर प्रणाम आपको 🙏🏻

Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…

हार्दिक आभार आदरणीया।
सादर 🙏🏻

सविता अग्रवाल 'सवि' ने कहा…

बढ़िया सेदोका हैं रश्मि जी ... विशेषकर ... प्रिय ने धागा /न्यारा.... अत्यंत खूबसूरत लगा हार्दिक बधाई |

Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…

हार्दिक आभार आदरणीया।
सादर 🙏🏻

Krishna ने कहा…

बहुत सुंदर उत्कृष्ट सेदोका...हार्दिक बधाई रश्मि जी।

Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…

हार्दिक आभार आदरणीया।

सादर 🙏🏻