शनिवार, 6 अगस्त 2022

1057-सेदोका

रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु'


12 टिप्‍पणियां:

भीकम सिंह ने कहा…

नैनों का जल ••जिसने जाना ••वाह सर ! बहुत ही खूबसूरत भाव , हार्दिक शुभकामनाएँ ।

Anima Das ने कहा…

वाह्ह्ह!!! अत्यंत सुंदर भावपूर्ण सृजन सर.. 🌹🙏 सारे शब्द और सभी पंक्तियाँ हृदयस्पर्शी हैं 🌹🙏

बेनामी ने कहा…

सुंदर भावों से संजोए बेहतरीन सेदोका। हार्दिक बधाई। सुदर्शन रत्नाकर

प्रीति अग्रवाल ने कहा…

प्रेम की कोमल भावनाओं से सजे अति सुंदर सेदोका! धन्यवाद आदरणीय!

Archana rai ने कहा…

बहुत सुंदर...

Upma ने कहा…

बहुत ही सुंदर सेदोका

www.nilambara.shailputri.in ने कहा…

बहुत सुंदर

सहज साहित्य ने कहा…

आप सभी गुणिजन का हार्दिक आभार

Rashmi Vibha Tripathi ने कहा…

प्रेम की सुंदर अभिव्यक्ति करते सेदोका।
उत्कृष्ट सृजन की हार्दिक बधाई गुरुवर को 💐🌷

सादर

Vibha Rashmi ने कहा…

प्रणय - प्रेम के भावप्रणव सेदोका रचनाएँ । सुन्दर सृजन । हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ हिमांशु भाई को ।💐💐

बेनामी ने कहा…

समस्त सेदोका उत्कृष्ट श्रेणी के है। प्रेम से परिपूर्ण सेदोका।

सहज साहित्य ने कहा…

आप सभी का हृदयतल से आभार